in

दिमाग तेज करने और याददाश्त बढ़ाने के 10 घरेलू उपाय

क्या आप अपने दिमाग को तेज करना चाहते हैं? क्या आप चीजों को जल्दी याद रखना चाहते हैं और क्या आप खुद को तनाव-मुक्त रखना चाहते हैं। अगर आपका जवाब हां है तो इस पोस्ट को जरूर पढ़ें। इस पोस्ट में, हमने दिमाग तेज करने के आसान तरीके बताये हैं। तो चलिए जानते है हिंदी में Dimaag Tej Kaise Kare?

बहुत से लोग, दूसरों की सफलता को देखकर सोचते हैं कि शायद भगवान ने इसे हमसे ज्यादा दिमाग दिया है, इसलिए वह हमसे आगे हैं। लेकिन यह सोचना गलत है क्योंकि विज्ञान का मानना है कि मस्तिष्क की संरचना और काम करने का तरीका लगभग समान है।

आपकी जीवनशैली आपके सोचने की क्षमता को प्रभावित करती है। इसलिए यह सोचना गलत है कि भगवान ने हमारे साथ भेदभाव किया है। अगर आप अपनी जीवनशैली में बदलाव करते हैं, तो आपका दिमाग निश्चित रूप से तेज हो सकता है।

अपने दिमाग को कैसे तेज करें?

हमने ऐसे उपाय बताए हैं जो दिमाग को तेज कर सकते हैं। तेज दिमाग होने से आपका दिमाग भी नियंत्रित रहेगा, आप तनाव मुक्त रहेंगे और आसानी से चीजों को याद रख पाएंगे। तो आइए जानते हैं अपने दिमाग को तेज करने के बेहतरीन तरीके।

विटामिन युक्त आहार लें

  • विटामिन हमारे शरीर के लिए एक आवश्यक तत्व है, यदि आपके शरीर में विटामिन की कमी है, तो आपकी याददाश्त कमजोर हो सकती है।
  • बादाम मस्तिष्क और स्मरण शक्ति को बढ़ाने में मदद करने के लिए एक उत्कृष्ट आयुर्वेदिक उपाय है और बादाम आँखों के लिए भी फायदेमंद है। याददाश्त बढ़ाने के लिए बादाम सबसे ज्यादा फायदेमंद है।
  • दही में अमीनो एसिड होता है, जो तनाव से राहत देता है। अगर आपकी याददाश्त कमजोर हो गई है, तो दही से फायदा होगा।

योग से बेहतर कोई व्यायाम

वैज्ञानिकों का यह भी मानना है कि योग से बेहतर कोई व्यायाम नहीं है। अगर आप रोजाना योग करने की आदत डालेंगे तो आप मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत बनेंगे।

मन के खेल खेलें:– जिस तरह सेहत बनाने के लिए व्यायाम करना पड़ता है, उसी तरह दिमाग को तेज करने के लिए माइंड गेम खेलना जरूरी है। माइंड गेम से मेरा मतलब उन खेलों से है जिनमें शारीरिक बल से अधिक दिमाग की आवश्यकता होती है, उदाहरण के लिए, शतरंज, पहेलियाँ, आदि।

गहरी सास लो:-अगर आप हर रोज 10-15 मिनट के लिए गहरी सांस लेते हैं, तो यह आपके मस्तिष्क के लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है। गहरी साँसें लेने से आपकी बेचैनी दूर होती है, रक्त परिसंचरण में सुधार होता है और आपकी सोचने की क्षमता बढ़ती है। अगर आप इस गतिविधि को रोजाना सुबह करते हैं तो यह स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा रहेगा।

हंसो और खुश रहो:

हम सभी ने सुना है कि हंसी हर बीमारी का इलाज है, विशेष रूप से यह मानसिक तनाव से राहत के लिए अधिक लोकप्रिय है। शायद आप नहीं जानते कि हंसना हमारे मस्तिष्क के सभी हिस्सों को सक्रिय बनाता है ताकि हम किसी भी चीज को आसानी से याद रख सकें। आप हँसने का अभ्यास करने के लिए, कॉमेडी शो देख सकते हैं, चुटकुला पढ़ सकते हैं, दोस्तों के साथ घूम सकते हैं, या आप कुछ याद करके खुद पर हंस सकते हैं।

पूरी नींद:

दिन भर में कुछ ऐसे काम किए जाते हैं जिनमें दिमाग का इस्तेमाल होता है, इसलिए दिमाग को भी आराम की जरूरत होती है। क्या आप 5 घंटे तक लगातार दौड़ सकते हैं? नहीं; इसी तरह, मस्तिष्क भी लगातार कार्य नहीं कर सकता है, इसलिए व्यक्ति को 9 घंटे की नींद पूरी करनी चाहिए। यदि आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, तो आप चीजों को जल्दी से भूल जाएंगे, सिरदर्द की समस्या और मानसिक थकान महसूस होगी।

देखभाल: meditation

अगर आप अपने दिमाग को शांत और तनावमुक्त रखना चाहते हैं, तो ध्यान आपके काम आएगा। ध्यान करने के लिए एकांत जगह चुनें। कम से कम 25 मिनट के लिए ध्यान करें, इससे आपका दिमाग तेज होगा और आप गुस्से को कम करेंगे।

ज्यादा पानी पियो:

क्या आप जानते हैं कि हमारे शरीर में लगभग 70% पानी है, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आपको प्रतिदिन कम से कम 2 लीटर पानी अवश्य पीना चाहिए। अगर आप किसी यात्रा पर जा रहे हैं, तो हमेशा अपने साथ पानी की बोतल लेकर जाएं ताकि शरीर में पानी की कमी न हो। अगर आप दिमागी विकास को बेहतर बनाना चाहते हैं, तो हर मौसम में ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं।

किताब पढ़ने से हमारा ज्ञान बढ़ता है और हमें नई चीजें जानने को मिलती हैं। लेकिन आजकल लोग ऑनलाइन वीडियो देखते हैं या ऑडियो सुनते हैं, इसलिए किताब पढ़ने की जरूरत नहीं है। इससे हमारा समय बचता है, लेकिन हम आलसी हो जाते हैं। इसलिए आप जिस भी विषय में रुचि रखते हैं उससे संबंधित पुस्तक पढ़ें।

Leave a Reply