in

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय खाद्य पदार्थ मदद करेगा.

उन चीजों को अपने आहार में अधिक शामिल करना होगा। जो आपके शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकता है। ताकि हम जानलेवा बीमारी से बच सकें। जिन लोगों की इम्युनिटी कमजोर होती है, उनमें कोई भी बीमारी जल्दी होती है।

आज कोरोना (COVID-19) पूरी दुनिया में कहर बरसा रहा है। कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। ऐसे में सेफ्टी और हाइजीन टिप्स अपनाने के साथ-साथ आपको अपने खाने का भी ध्यान रखना होगा।

इस खतरनाक वायरस के लिए कोई वैक्सीन और इलाज उपलब्ध है, लेकिन दुनिया भर के वैज्ञानिक, शोधकर्ता कोविद 19 से लड़ने के लिए वैक्सीन की तलाश कर रहे हैं। डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार, कोरोनोवायरस कमजोर प्रतिरक्षा वाले लोग, बुजुर्ग लोग या पहले से ही रोग से ग्रसित वयक्ति इसकी चपेट में ज्यादा पाए जा रहे हैं.

खाद्य पदार्थ शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करेगा.

शरीर को स्वस्थ रखने में प्रतिरक्षा महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। जो शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले कीटाणुओं से लड़ता है। यह इन कीटाणुओं को शरीर में प्रवेश करने से रोकता है और यदि कोई बैक्टीरिया अंदर आता है, तो यह उन्हें समाप्त करके स्वस्थ रखने में मदद करता है।

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को कैसे जाने।

आपकी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है, यदि आपको बार-बार सर्दी, बुखार होता है तो। किसी व्यक्ति को बीमारी से निपटने के लिए शरीर की ताकत पर निर्भर करता है, जिसे प्रतिरक्षा प्रणाली कहा जाता है। जैसे-जैसे यह कमजोर होता है, बाहरी रोगजनकों जैसे बैक्टीरिया, वायरस या कवक का शरीर पर प्रभाव पड़ता है।

इस क्षमता की कमी के कारण, शरीर आसानी से बीमारियों का शिकार हो सकता है और इस कारण से प्रतिरक्षा को मजबूत रखना महत्वपूर्ण है, इसलिए अपने आहार में प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करने से मदद मिल सकती है।

लहसुन खाने से आप कई तरह की समस्याओं से दूर रह सकते हैं।

इसमें पर्याप्त मात्रा में एलिसिन, जिंक, सल्फर, सेलेनियम और विटामिन ए व ई पाए जाते है। दो लहसुन की कलि का दैनिक सेवन रक्तचाप को नियंत्रण में रखता है और लहसुन शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

हल्दी में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लैमेट्री गुण इम्यूनिटी बढ़ाने का काम कर सकते हैं।

हल्दी कई गंभीर बीमारियों से बचाता है। हर दिन हल्दी का उपयोग करने से प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए दूध और हल्दी का मिश्रण हमेशा अच्छा होता है। इसकी गुणवत्ता के कारण, यह गठिया, भूलने की बीमारी और उम्र बढ़ने की बीमारी से बचाता है।

अदरक में इम्यूनोन्यूट्रीशन और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करते हैं। सर्दियों की खांसी के लिए सूखी अदरक बहुत फायदेमंद है।

खट्टे फलों को अपने आहार का नियमित हिस्सा बनाएं।

हैं सभी जानते हैं की हमारे शरीर में मौजूद WBC एक दिवार की तरह काम करती है. शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करता है. जिससे बाहर की बीमारियां हमारे शरीर में प्रवेश ना कर सके.

संतरे, टमाटर, नींबू, जामुन आदि का सेवन करें। ये विटामिन सी से भरपूर होते हैं। विटामिन सी के सेवन से शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाएं बढ़ती हैं। जब सफेद रक्त कोशिकाओं का प्रसार होता है, तो प्रतिरक्षा को बढ़ावा मिलता है।

अनार इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है। विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर अनार शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है।

चुकंदर हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है, चुकंदर में भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट, कैल्शियम, मिनरल, मैग्नीशियम, आयरन, सोडियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस, क्लोरीन, आयोडीन और अन्य महत्वपूर्ण विटामिन मौजूद होते हैं।

टमाटर विटामिन के, विटामिन सी और फाइबर से भरपूर होता है, जिससे इम्युनिटी मजबूत होती है।

मुलेठी – मुलेठी एक स्वस्थ जड़ी बूटी है। इसकी जड़ों में एंटीवायरल और जीवाणुरोधी गुण होते हैं, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाते हैं।

Leave a Reply